THIS PAGE HAS BEEN MOVED
If you are not redirected to its new location in a few seconds, please click here
DON'T FORGET TO UPDATE YOUR BOOKMARKS!

Community Empowerment
English version of this poem
,
,
..........
.
जा मिल जा अपने लोगों
Poem by Lau Tsu
लाओ त्स
Translated by Meghna Bhatt
edited by Phil Bartle
.
 जाओ
लोगो के पास;
उन्के साथ रहो;
उन्से प्यार करो;
उन्से सीखो;
वह जहा है वहा से शुरू करो;
उन्के साथ काम करो;
उन्के पास जो है उसे आगे बढाओ.

मगर सबसे अच्छे मर्गदर्शक वह है, 
जो कार्य सिद्ध होने पर, 
कार्य खत्म होने पर,
अपने सहकारियो मे यह चेतना जगाये:
"यह हमारा है इसे हमने खुद किया है"

                              लाओ त्स
.
––»«––
..
..
.जा मिल जा अपने लोगों म
..
Getting Prepared
Getting Started Getting Organized Into Action Sustaining
..
.
Bottom of Page प्रिष्ठ का अन्त
Key Words: शब्द कुन्जी कार्यकर्ताओं के लिये
Handbooks
Training Modules
Acknowledge
Akan Studies
Sociology
वेब साइट का होम प्रिष्ठ  Home Page (English)
हमसे सम्पर्क.  Please write to us Link to Site Map
Updated2006.10.28
सबसे कम सन्घर्ष की राह पर चलने से सभी नदियां, और कई इन्सान, टेडे़ हो जाते है

जा मिल जा अपने लोगों में;
उन से प्रेम कर,
हाथ बँटा और सीख भी
.
वो जहॉ हैं,
जैसे हैं,
उन्हें अपना और आगे बढ़।
.
और याद रख -
महान नेता के अनुयायी,
लक्ष्य पाने पर यही कहेंगे
“हम ने कर दखाया!”
                                         - लाओ त्स
.
.
Jao
Janata ke paas;
Unke saath raho;
Unse prem karo;
Unse seekho
Woh jahan hain, wahan se shuruat karo
Unke saath kaam karo
Unke paas jo hai, uske aadhaar par kaam karo
Kintu uttam neta ke baare mein,
jab kaarya sampanna ho jaye,
jab kaam khatam ho jaye,
log yahi kehten hain:
“Yeh hamne khud hi kiya hai”
                                          - Lao Tzu